विदेश डेस्क।।

अमेरिका: एक रिपोर्ट में दावा किया गया है राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कई मौकों पर अमेरिकी सेना के बंधक बनाए गए या मारे गए जवानों के लिए अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया था। ऐसा कहा जा रहा है कि ट्रंप ने 2018 में फ्रांस के आयस्ने-मार्ने अमेरिकी कब्रिस्तान में दफनाए शहीदों को ‘‘हारने वाला’’ और ‘‘मूर्ख’’ कहा था।

यह आरोप पहली बार ‘द एटलांटिक’ में प्रकाशित किए गए। रक्षा विभाग के एक सीनियर अधिकारी और अमेरिकी मरीन कोर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एसोसिएटेड प्रेस से ट्रंप की कुछ टिप्पणियों के बारे में पुष्टि की है। जिसमें 2018 में कब्रिस्तान के बारे में की गई टिप्पणी भी शामिल है। अधिकारियों ने कहा कि ट्रंप ने ऐसा तब किया, जब पेरिस के बाहर मौजूद कब्रिस्तान में उनकी इच्छा जाने की नहीं थी।

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद और गुप्तचर सेवा के कर्मियों ने जब ट्रंप को बताया कि बरसात के कारण कब्रिस्तान तक हेलिकॉप्टर से जाना खतरनाक है। लेकिन सड़क मार्ग से वहां पहुँचा जा सकता है। इस पर ट्रंप ने कहा था कि वह कब्रिस्तान नहीं जाना चाहते हैं। क्योंकि कब्रिस्तान ‘‘हारे हुए लोगों से भरा है।’’ उस वक्त व्हाइट हाउस ने कहा था कि खराब मौसम के कारण कब्रिस्तान का दौरा स्थागित करना पड़ा। ‘द अटलांटिक’ ने दावा किया कि इसी दौरे में ट्रंप ने प्रथम विश्व युद्ध में जान गंवाने वाले 1,800 नौसैनिकों के लिए ‘‘मूर्ख’’ शब्द का भी इस्तेमाल किया था।

ट्रंप ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह कहानी पूरी तरह से झूठी है। उन्होंने इस रिपोर्ट को झूठा करार देते हुए सिरे से खारिज कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here